विधानसभा चुनाव पर कोरोना इफेक्‍ट, अब सितंबर के बदले अक्‍टूबर में अधिसूचना!

0
234

Bihar Assembly Election 2020: कोरोना संक्रमण के कारण बिहार विधानसभा चुनाव इस बार पांच की बजाय एक या दो चरण में ही होगा। निर्वाचन आयोग (Election Commission) इसी संभावना के साथ अपनी तैयारी में जुटा हुआ है। संभव है कि आयोग सितंबर की बजाय अक्टूबर में आयोग चुनाव की अधिसूचना जारी करे। नामांकन ऑनलाइन हो सकता है। सबसे बड़ी चुनौती कंटेनमेंट जोन में वोटिंग की हृै।

ईवीएम को वोटरों तक पहुंचाने पर चर्चा

दरअसल, निर्वाचन आयोग का आंकलन है कि नवंबर तक बिहार में कोरोना का प्रभाव काफी कम हो जाएगा। ऐसे में आयोग के लिए तमाम एहतियात साथ चुनाव कराना ज्यादा मुफीद होगा। फिलवक्त आयोग कोरोना से बचाव को मुकम्मल इंतजाम सुनिश्चित करने के लिए तमाम विकल्पों पर काम कर रहा है। इस बीच राजनीतिक दलों के साथ चुनाव आयोग के सामने ढेरों चुनौतियां हैं। अहम यह है कि दोनों के पास बहुत ज्यादा समय नहीं है। इस बीच आयोग सुरक्षित मतदान के सारे विकल्पों पर विचार कर रहा है। आयोग के सामने सबसे बड़ी चुनौती कंटेनमेंट

जोन में चुनाव कराने की है। ईवीएम को वोटरों के दरवाजे तक भी पहुंचाया जा सकता है।आयोग को बूथों तक वोटरों के पहुंचने से लेकर सुरक्षित घर वापसी की व्यवस्था करनी है। इसके लिए बूथों को सैनेटाइज करने, वोटरों के लिए मास्क, थर्मल जांच, ग्लब्‍स आदि अनिवार्य तो होगा ही, लेकिन उनका वितरण किस तरह और कैसे होगा, इसपर विचार जारी है। बूथों पर फिजिकल डिस्टेंसिंग और कंटेनमेंट जोन में वोटिंग कराना भी बड़ी चुनौती होगी। ऐसे में आश्चर्य नहीं कि ईवीएम को वोटरों के दरवाजे तक पहुंचाया जाए। हालांकि, अभी अंतिम रूप से निर्णय नहीं हुआ है। इसके अलावा बैलेट पर मतदान कराने और अन्य विकल्प भी शामिल हैं। आयोग की कोशिश है कि कोई मतदाता अपने मताधिकार के प्रयोग से वंचित नहीं रहे। ऐसे में कोरोना संक्रमित मरीजों को भी वोट देने की अनुमति मिलेगी। कंटेनमेंट जोन में रहने वाले ऐसे मतदाता जो कोरोना संक्रमित नहीं होंगे, उनके लिए अग्रिम मतदान के विकल्प पर विचार किया जा रहा है।

चुनावी कार्य में जुटे सुरक्षाकर्मियों, मतदान कर्मियों और इवीएम के इंजीनियरों को चुनावी ड्यूटी के दौरान कोविड से होनेवाली मौत पर बड़ी राहत देने का निर्देश दिया गया है। आयोग ने सभी राज्यों को आदेश दिया है कि चुनावी ड्यूटी के दौरान कोविड से मौत होने पर मतदान कर्मी के परिजन को 30 लाख दिया जाएगा। आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को निर्देश दिया है कि इवीएम के बीइएल और इसीआइएल के इंजीनियरों को कोविड संक्रमण होने पर कैशलेश इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

ऑनलाइन नामांकन की तैयारी

बिहार विधानसभा चुनाव में 243 विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों को ऑनलाइन नामांकन पत्र दाखिल करने का मौका मिल सकता है। भारत निर्वाचन आयोग ने इस दिशा में पहल की है। बिहार विधानसभा आम चुनाव को ध्यान में रखते हुए आयोग ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को ऑनलाइन नामांकन पत्र दाखिल करने को लेकर पत्र भेजा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी को दिए निर्देश के बाद प्रत्याशियों के ऑनलाइन नामांकन को लेकर आयोग द्वारा मॉक ट्रॉयल प्रशिक्षण राज्य के पदाधिकारियों को दिया जा चुका है

LEAVE A REPLY